अमरुद की बाग़वानी

अमरुद की बाग़वानी

अमरुद की बाग़वानी

    1. अमरुद उत्पादन की वैज्ञानिक खेती. अमरूद उत्कृष्टता केंद्र, टोंक, राजस्थान (PDF) 2019
      किसानों को अमरूद की बागवानी के बारे में सम्पूर्ण जानकारी इस पुस्तक में दी गई है जिसे इसकी बागवानी करने वाले उन सभी किसानों को अवश्य पढ़ना चाहिए जो इसकी बागवानी कर रहे है या करना चाहते हो। इस प्रकाशन में अमरूद की प्रजाति से लेकर उनके पुनरुत्थान तक के सभी विषयों पर विस्तृत जानकारी दी गई है।
    2. Singh, Gorakh. High Density and Meadow Orcharding of Guava. CISH, Lucknow (PDF) 2008
      अमरूद की बागवानी में उत्पादन क्षमता बढ़ाने में सघन अथवा मिडो बागवानी का प्रबंधन सामान्य विधि की तुलना में बिलकुल अलग होता है। इस लेख में बहुत विस्तार से यह समझाया गया है की किसान इस पद्यति को अपनाकर किस प्रकार कम जगह में अधिक फसल लेकर अपना उत्पादन और आमंदनी बढ़ा सकते है।
    3. डॉ अनिल कुमार त्यागी, अमेजिंग किसान, सहारनपुर. बाग़ लगाने से पहले इन बातों को ध्यान अवश्य रखें (PDF) 2021
      किसान साथियों, अगर बाग की एक बार गलत स्थापना हो जाए तो आपको बहुत नुकसान होने की संभावना होती है और यह भी हो सकता है कि आप बाग ही खत्म कर दें और कभी बाग लगाने की ना सोचे। इस लेख में मैं आपको यह बता रहा हूं कि मैंने वह क्या गलतियां की थी जिससे कि जो किसान भाई बाग लगा रहे हैं या लगाने की सोच रहे हैं या जिन्होंने इसी वर्ष बाग लगाया है वह उन गलतियों से बचें। आइए देखते हैं ये गलतियां क्या थी।

देखभाल एवं प्रबंधन

    1. डॉ अनिल कुमार त्यागी, अमेजिंग किसान, सहारनपुर. अमरूद की कटिंग: कैनोपी कैसे बनाए (PDF) 2021
      इन विडियो में हमने पौधे लगाने के बाद से एक वर्ष के होने तक पौधों की कैनोपी या छत्रक बनाने के लिए कब कटिंग करनी है और क्या ध्यान रखना है यह समझाने की कोशिश की है। इस में जो वीडियो दिखाई गई है उसमें पौधरोपण जून माह के अंत या जुलाई के प्रथम सप्ताह में किया गया गया था। अगर आपने पौधरोपण सितम्बर माह या फरवरी में किया है तो उसी संदर्भ में वीडियो को समझे।
    2. पौधरोपण और पहले दो माह की देखभाल (PDF) 2019, Jun
      किसानों को पौधारोपण की सम्पूर्ण जानकारी देना और इसके अगले दो माह तक क्या सावधानियां रखनी है।
    3. कटिंग, सिंचाई और खाद प्रबंधन (PDF) 2019, July
      अमरुद की कटिंग के बारे में किसानो को शिक्षित करना और पहले दो वर्ष में सिंचाई और खाद प्रबंधन की जानकारी देना।
    4. बोर्डो पेस्ट, मिश्रण और पेंट (PDF)  2019, August पेड़ो में कटाई छटाई के दौरान कटे हुए भाग पर फफूंद नाशक पेस्ट रोगाणुओं से रक्षा करने के लिए आवश्यक होता है। बोर्डो पेस्ट इस काम के लिए सबसे प्रभावी घाव ड्रेसिंग है।
    5. दो से तीन माह के पौधों की देखभाल 2019, August
      सभी किसान भाई, जिन्होंने जून माह के अंत या जुलाई माह के शुरू में अमरुद का पौधारोपण किया था, उनके पौधों ने अब तक जड़ पकड़ ली होगी और लगभग दो से तीन नई पत्तियां भी निकल आई होंगी। आप सब ने इनमें लगाते समय आवश्यकता अनुसार खाद और दीमक आदि की दवाई डाली होगी। अब आप इनमें निम्न कार्य करे जो की बहुत ही आवश्यक है।
    6. सर्दियों की फसल की तैयारी-मृग बहार 2019, July
      जुलाई का महीना शुरू हो चुका है। उन सभी किसान भाइयों ने जिनके पौधे २ वर्ष से बड़े है और सर्दियों की फसल लेना चाहते है, अपने अपने बगीचों में पौधों की कटाई छटाई (कटिंग) मई के अंतिम सप्ताह से लेकर जून के दूसरे सप्ताह तक कर दी होगी और देश के अधिकतर हिस्सों में या तो मानसून ने दस्तक दे दी होगी या मानसून पूर्व बारिश हो चुकी होगी। अब तक पौधों में नए कल्लो का सृजन हो चुका होगा और नई कलियाँ या तो निकल रही होगी या निकलने ही वाली होंगी। इस समय लगभग एक माह पश्चात पौधों को उचित सूक्ष्म तत्वों (Micronutrients), पोषक तत्वों और आने वाले दिनों में रोगों फूल और फलों की सुरक्षा के उपाय करने चाहिए जिससे फल, फूल और पौधें निरोग रहे और हमें भरपूर पैदावार मिल सके। इसके लिए यह कार्य तुरंत करने चाहिए।
    7. कटिंग के बाद सर्दियों के फलों की सुरक्षा. 2021, Jun
      मई माह में कटाई छटाई (कटिंग) के बाद अब तक पौधों में नए कल्लो का सृजन हो चुका होगा और नई कलियाँ या तो निकल रही होगी या निकलने ही वाली होंगी। इस समय आने वाले फूल और फलों की सुरक्षा के उपाय करने चाहिए जिससे फल, फूल और पौधें निरोग रहे और हमें भरपूर पैदावार मिल सके। इसके लिए यह स्प्रे कर सकते है।

कीट एवं रोग और उपाय

    1. फल मक्खी (Fruit Fly) 2019, November
      फल मक्खी का प्रकोप बरसात में ली जाने वाली अमरूद की फसल में सबसे अधिक पाया जाता है । जब फल मक्खी अमरूद के फलों पर अंडे देती है तो इन अंडों से छोटी छोटी सूंडी निकलती है जो कि फल के गूदे को खाती है जिससे फल खराब हो जाता है। फल मक्खी अपना अंडा अमरूद, जब फूल में से बाहर आकर मटर के दाने के आकार के होते है, तभी अपना डंक मारकर फल के अंदर देती है।
    2. फल मक्खी प्रबंधन : काम लागत से ट्रैप एवं प्रलोभन सामग्री तैयार करना. राष्ट्रीय वनस्पति स्वास्थ्य प्रबंधन संस्थान, भारत सरकार
      फल मक्खी का प्रकोप रोकने के लिए घर पर ही ट्रैप और उसमे प्रयुक्त होने वाला रसायन बनाने की साल विधि सचित्र बताई गई है। ।
    3. एन्थ्रक्नोज़ रोग और उपाय 2019, August
      अगस्त का तीसरा सप्ताह शुरू हो गया है। इस समय अमरुद के पौधों में अक्सर एक रोग पाया जाता है जिसके कारण छोटे पौधों की डालियों के अंत में जो छोटी और कोमल पत्ती होती है वह वह काली पड़-कर कमजोर हो जाती है और फिर गिर जाती है। यह एक फफूंद रोग है अगर इसका समय पर इलाज न किया जाए तो मोटी टहनियां भी सूख जाती है। जहां तक हो सके इसका पहले ही कोई उपाय करना चाहिए। अगर एक बार रोग लग गया तो यह फसल को काफी नुकसान पहुँचाता है और फसल खराब हो जाती है जिसके कारण वह बाज़ार में बिकने के लायक नहीं रहती।
    4. निमाटोड से बचाव और उपचार (PDF) 2019, August
      किसानों को अमरुद में होने वाली इस बीमारी की अधिक से अधिक जानकारी देना और यह बीमारी होने पर पौधों को बचाने के लिये क्या क्या उपाय है उनके बारे मे जानकारी देना।
    5. विल्ट/उखटा रोग की पहचान, कारण और इलाज़ (PDF) 2020, October
      किसानों को अमरुद में होने वाली इस बीमारी की पहचान, किस कारण यह बिमारी होती है और बीमारी का पता चलने पर क्या उपाय किये जा सकते है इसके बारे मे जानकारी दी गई हैं। ।